Nangi Shadi Aur Samudrik-chudai-नंगी शादी और सामूहिक चुदाई chudai hindi sex story , hindi sex kahaniya चुदाई हिन्दी सेक्स कहानिया

Nangi Shadi Aur Samudrik-chudai-नंगी शादी और सामूहिक चुदाई chudai hindi sex story , hindi sex kahaniya चुदाई हिन्दी सेक्स कहानिया

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम रोहित है और मेरी उम्र 19 साल है। ये कहानी एक साल पहले की है जिसमें 2 फेमिली है, एक मेरी और दूसरी हमारे फेमिली फ्रेंड प्रकाश अंकल की है। मेरी फेमिली में हम 5 लोग है में, मम्मी, पापा और दो बहनें, जो अभी पढ़ रही है और प्रकाश अंकल की फेमिली में 6 लोग है वो, उनकी वाईफ और 3 बेटे और एक बेटी, जो कि 19 साल की है और वो अभी पढ़ रही है। एक दिन प्रकाश अंकल और उनकी वाईफ हमारे घर आए, अब वो मेरे पापा और मम्मी से बात कर रहे थे। वो लोग कहीं बाहर जाने की प्लानिंग कर रहे थे, वो लोग छुट्टी मनाने ऊटी जाने का प्लान बनाकर रविवार को निकल गये। वो दोनों अंकल, आंटी और मेरे मम्मी, पापा और हम सब बच्चे अपने घर पर ही थे।

अब में आपको बता दूँ कि मेरी दोनों बहनों का नाम रीता और मीना है, वो दोनों जुड़वा है और बहुत सेक्सी है। वो 19 साल की कामुक लड़कियां है और प्रकाश अंकल के बेटे प्रीतम 21 साल, पिंटू 20 साल और सिंटू 19 साल के है। हमारे पापा मम्मी की तरह हम सब भी अच्छे दोस्त थे और बहुत बार मेरी दोनों बहने पूजा के पास जाया करती थी और हम भी प्रीतम और उसके भाइयों के साथ बाहर जाते थे। इस तरह जब हमारे पापा मम्मी ऊटी गये थे, तो हम लोग अपने एग्जॉम में व्यस्त थे और अचानक हमें एक शॉक लगा और पता चला कि रोड़ एक्सिडेंट में हमारे माता पिता की मौत हो गई है। फिर हम सबने बहुत दुख से उन सभी का क्रियाकर्म किया। उस समय मेरे पास कुछ नहीं था, फिर में प्रीतम और उसके भाइयों के घर गया। फिर थोड़ी देर तक बात करने के बाद हमने फ़ैसला कर लिया कि हम सब साथ में रहेंगे। फिर में अपनी दोनों बहनों के साथ उनके घर चला गया और फिर हम एक साथ रहने लगे। फिर करीब 5 महीने के बाद हम सब घुल मिल गये और मस्त रहने लगे। अब प्रीतम और में बिज़नस किया करते और घर चलाया करते। फिर हमने सोचा कि अब हमें शादी कर लेनी चाहिए।

प्रीतम : क्या यार, अब हमारी शादी कैसे होगी?

में : हाँ यार, में भी यही सोच रहा हूँ।

प्रीतम : एक बात बोलूं।

में : हाँ बोल।

प्रीतम : मुझे तेरी बहन मीना बहुत पसंद है, क्या में उससे शादी कर सकता हूँ?

में : हाँ, मगर एक शर्त है।

प्रीतम : बोल।

में : मुझे भी तेरी बहन बहुत पसंद है।

प्रीतम : ये तो खुशी की बात है चल आज ही मीटिंग करते है।

फिर घर आने के बाद हम सब डिनर टेबल पर बैठे और प्रीतम ने पूछा कि जिसको भी शादी करनी है वो हाथ उठाओ, तो सबने अपना हाथ उठाया और हम चौंक गये, तो मीना बोली कि लेकिन करेगें किससे?

में : देख हम सब जवान है और अलग-अलग फेमिली से बिलॉंग करते है, क्यों ना हम आपस में शादी कर ले?

तो सब राजी हो गये और अब सब खुश लग रहे थे, तो पिंटू ने कहा कि लेकिन एक प्रोब्लम है दोस्तों।

में : क्या?

पिंटू : हम 4 लड़के है और लड़कियां 3 ही है, कैसे शादी होगी?

प्रीतम : कुछ सोचो यार।

फिर हम एक फैसले पर आए कि मेरी बहन रीता के दो पति होगें, तो सब राजी हो गये।

अब हम सब शर्म छोड़ चुके थे और खुलकर बात कर रहे थे। फिर मैंने प्रीतम की बहन पूजा से कहा कि

क्या ख्याल है मेरी होने वाली पत्नी?

पूजा : हाए मेरे राजा आई लव यू।

फिर हम सब हंस पड़े, फिर हमने अगले दिन शादी का प्लान किया और सब खुश हो गये, क्योंकि सब हवस में पागल थे। फिर दूसरे दिन सभी लड़कियां साड़ी पहने थी और सब लड़के कुर्ता पजामा पहने थे, फिर मैंने कहा कि क्यों ना शादी एक नयी स्टाइल में की जाए?

प्रीतम : कैसे?

में : क्यों ना हम कम से कम कपड़ो में शादी करे?

सिंटू : अच्छा आईडिया है।

में : गर्ल्स सिर्फ़ ब्रा और पेंटी में और बॉय सिर्फ शॉर्ट्स पहनकर शादी करे।

पूजा : आईडिया अच्छा है।

फिर हम सबने अपने-अपने कपड़े उतारे और ड्रेस कोड में आ गये। अब मीना और रीता ने ब्लेक कलर की ब्रा और पेंटी पहनी थी और पूजा ने रेड कलर की ब्रा पेंटी पहनी थी और सभी बॉय ने ब्लू कलर की शॉर्ट पहनी हुई थी।

पूजा : लेकिन, हम शादी शुरू कैसे करे?

फिर हमने हॉल में सब गद्दे बिछाए और अब हम हार पहनाकर शादी कर रहे थे।

रीता : सिंदूर कहाँ है?

प्रीतम : हाँ, सिंदूर हम माँग में नहीं चूत में भरेंगे।

तो वो खुश हो गई और अब सब लेडीस अपनी पेंटी को साईड में करके खड़ी थी।

में : हम सिंदूर हाथ से नहीं लंड से भरेंगे।

तो सब राजी हो गये, फिर मैंने अपने 8 इंच के लंड पर सिंदूर लगाया और पूजा की नाज़ुक चूत पर सिंदूर लगाया। वही पिंटू और सिंटू ने मेरी बहन रीता की चूत पर सिंदूर लगाया और प्रीतम ने मीना की चूत पर अपना लंड लगाकर शादी कर ली थी। अब हम सब रोमांस कर रहे थे, अब में पूजा की ब्रा खोलकर उसके 19 साल के निपल चूस रहा था। अब वो बहुत सिसकियां मार रही थी, अब रीता पिंटू और सिंटू के साथ मज़े ले रही थी और प्रीतम मीना की चूत को चाट रहा था। अब में भी पूजा की चूत चाट रहा था। अब वो लाल हो गई थी और में उसकी चूत पर अपना लंड मसल रहा था और अब वो भी मेरा साथ दे रही थी। फिर मैंने एक जोरदार धक्के के साथ पूजा की चूत में अपना लंड डाल दिया, तो वो चीख उठी और वहीँ मीना का भी यही हाल था और रीता भी एक लंड चूस रही थी और दूसरा लंड अपनी चूत में ले रही थी। इस तरह से हमने रात के तीन बजे तक चुदाई की और अब सब कई बार झड़ चुके थे। फिर सुबह 9 बजे मेरी आँख खुली तो मैंने देखा कि पूजा मेरी बाहों में सो रही है, मीना प्रीतम का लंड अपनी चूत में लिए सो रही हैं और रीता के दोनों साईड में सिंटू पिंटू सो रहे थे। फिर मैंने सबको उठाया और कहा कि नहा लो, तो अब सब उठकर एक दूसरे को देख रहे थे और फिर सबने अपनी बीवियों को मॉर्निंग किस किया और बीवियों ने लंड मुँह में लेकर सबको ठीक से जगाया। अब सब कपल एक के बाद एक बाथरूम में जा कर चुदाई के साथ फ्रेश होकर कपड़े पहनकर बाहर आए और नाश्ता किया।

तभी पूजा ने कहा कि आज राखी है हम सब अच्छे से मनायेंगे, तो मैंने कहा कि अच्छा आइडिया है।

nang-shadi-samudrik-chudai

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*